मैं तो फ़िर भी सो लूंगा क्या वो आँखे सो पाएगी देख कर रात में तारों को वो सिर्फ़ रोती जाएगी मेरी ख़ातिर खोया है अपना चांद, सितारा जिसने अब कैसे आख़िर वो आँखे खिलखिलाएगी, मुस्कुराएगी ? I’m saying about eyes of the martyrs’ family members and close person YouTube #Av #martyr #shaheed #life #eyes […]

अधिक पढ़ें

प्राणाधार | Basis of The Life

मेरी चेतना का स्रोत तुम्हीं, तुम प्रसन्नता का उद्गार हो तुम उद्गम मेरी साँसों का, तुम ईश्वर का उपहार हो तुम शीतलता मस्तिष्क की, तुम, अति सुन्दर, विचार हो एक प्रयास में करती परास्त, तुम ब्रम्हास्त्र सा वार हो तुम मेरी निंद्रा पर विजयी, तुम स्वप्न साकार हो तुम मेरे नयनों की ज्योति, तुम ही […]

अधिक पढ़ें प्राणाधार | Basis of The Life

मुझे स्वीकार करोगी ?

मेरे दिल के पत्थर को, घिस कर यदि मैं रतन कर लूं तुझे पाने हेतु प्राणप्रिये! समस्त यदि मैं जतन कर लूं तो क्या इस दीवाने पर एक उपकार करोगी ? मुझे स्वीकार करोगी ? बिन तुम्हारे जीवन मेरा जैसे उजड़ा हुआ उद्यान हो कोई बिन तुम्हारे यहं जीवन है जैसे खंडहर हुआ मकान हो […]

अधिक पढ़ें मुझे स्वीकार करोगी ?

तुम, समझ मुझे नहीं पाते हो..

समझने के लिए किसी को, कोशिश करनी पड़ती है ध्यान केंद्रित करके उसमें, दृष्टि धरनी पड़ती है पर न तुम में इच्छा है, न है समझने की शक्ति न प्यास है समझने की, न चाहते समझने की तृप्ति जब जब मैं कोशिश हूं करता, तुम समझने से कतराते हो और हर बार कह देते हो […]

अधिक पढ़ें तुम, समझ मुझे नहीं पाते हो..

Happy Eid

मैं हिन्दू, तुम हो मुसलमान, आओ आज झगड़ते हैं बाहों में भर कर एक दूजे को, जोर से जकड़ते हैं मैं खिलाऊंगा खीर तुम्हें, तुम भी खिलाना मिठाई आओ एक दूजे के चेहरे पे थोड़ी मुस्कान रगड़ते हैं Hum insaan hain, ladne ke liye nahi aaye is duniya mein Aur pyar ki ladai bhi to […]

अधिक पढ़ें Happy Eid

सफल

Dil ke direct connection se kuch mails tumhe he bhej diye, jo padh kar muskura do, to main inhe safal maan lu Mere dil tak pahuchne ke liye ek pyar ki seedhi laga di he, jo is par chadh kar muskura do, to main inhe safal maan lu Pyar mein to khoob lagti hi ho, […]

अधिक पढ़ें सफल

ले आऊँ बाज़ार से..

जिसके पूरा पिघलने से पहले पिघल जाये दिल मेरे सनम का, ऎसी कोई शमा हो तो मैं भी ले आऊँ बाज़ार से जिसे खिलाते ही कुछ लम्हों में जो इश्क़ मुक़म्मल हो मेरा, ऎसी कोई दवा हो तो मैं भी ले आऊँ बाज़ार से फ़क़ीरबाबा का धुंआ कोई जो बुलंद कर दे इश्क़ मेरा, ऎसा […]

अधिक पढ़ें ले आऊँ बाज़ार से..

Bade Pyare

Bade pyare lagte ho jab tum yun muskurate ho Muskurate hue jab tum apni palken jhukate ho Raton ko sapno me aakar meri ninden udate ho Fir bhor talak whatsapp par mujhse tum batiyate ho Apne poore farz nibha kar acche meet ban jate ho Meri kalam me sama kar ek madhur geet ban jate […]

अधिक पढ़ें Bade Pyare

पर्यावरण

मैं हूँ पर्यावरण थाणो क्यूँ थें मन्ने मार रिया बिन गलती ही मन्ने क्यूँ घाट मौत रे उतार रिया मैं तो हमेशां ही मिनखां थाणो भलो चायो हूँ सदियां सदियां उं मैं जीवन थाणो बचायो हूँ तरक्की रे नाम माथे आज गळो थें म्हारो काट रिया काट कूट अर रूखां ने थें कर जमीं सपाट […]

अधिक पढ़ें पर्यावरण

मनोहर

आज मनोहर बहुत खुश था, क्योंकि आज उसके घर में एक प्यारा सदस्य आया था दरअसल उसकी गाय रमा ने एक प्यारी सी बछड़ी को जन्म दिया था । मनोहर एक अधेड़ किसान था दिन भर किसानी करता, खेतों में काम करता और सुबह शाम अपनी गाय रमा का ख्याल रखता, उसकी सेवा करता । […]

अधिक पढ़ें मनोहर

रिश्ता भले कोई भी हो जब तक उसमें भरोसे का reinforcement नहीं लगता, वहं मज़बूत नहीं बन सकता ।

अधिक पढ़ें